तुला राशि : ज्योतिष की नजर से ( Tula Rashi )





तुला राशि : ज्योतिष की नजर से ( Tula Rashi )

यह राशि चक्र की सातवीं राशि है यह राशि पुरुष संज्ञक,   चित्र वर्ण ,उष्ण प्रकृति,   पश्चिम दिशा के स्वामी वायु प्रधान, क्रूर,  शुद्र वर्ण राशि है. इसका राशि स्वामी शुक्र ग्रह सुंदर, शरीर, सुखी सुलोचन प्रकृति एवं घुंघराले बालों वाला है. इस राशि में शनि उच्च फल का तथा सूर्य नीच फल का होता है.


इस राशि के जातक का कद लंबा , शरीर देखने में शानदार वह आकर्षक होता है .हाथ पैर बाहे कुछ पतले होते हैं इनका रंग साफ सुंदर और यह स्वरूपवान होते हैं. इनकी आंखें सुंदर एवं नाक कई हालातों में तोते जैसी होती है इनका चेहरा गोल तथा कई हालातों में चकोर भी होता है. ( tula rashi ) इस राशि की स्त्री जातक बहुत सुंदर होती है तथा कईयों की आंखें नीली वह बाल घुंघराले होते हैं. इस राशि के जातक आयु बढ़ने के साथ-साथ कई बार अधिक लंबे हो जाते हैं. यह राशि कमर पर प्रभाव डालती है इससे सुनसान चौराहा का बोध होता है. इस राशि वालों में क्षमता दयालुता बहुत होती है. तथा इनके विचार शुद्ध होते हैं यह बड़ी ऊंची उम्मीदें रखने वाले होते हैं यह जातक कुछ बातूनी भी होते हैं यह संतुलित मस्तिष्क के होते हैं और निर्णय सोच विचार करके लेते हैं


यह न्यायप्रिय , लोकप्रिय , कलाप्रेमी निपुण मृदुभाषी निडर समाज सुधारक ऐश्वर्यवान तथा बलिदान करने की भावना रखते हैं . यह शांति प्रेमी होते हैं परंतु किसी का अनुचित दबाव सहन भी नहीं करते धमकी देकर इनसे कोई भी वस्तु या कार्य नहीं कराया जा सकता यह आलोचना तो करते हैं. Tula Rashi परंतु इनकी आलोचना रचनात्मक ढंग की होती है यह शौकीन तबीयत के होते हैं इनके कल्पना शक्ति बहुत अच्छी होती है परंतु विचारों को वास्तविक रूप देना कई बार इनके बस की बात नहीं होती है


इस राशि की स्त्रियां अति सुंदर होती है यह सौंदर्य और स्वच्छता से बहुत लगाव रखती है यह शांति और न्याय प्रिय होती है यह * दयालु और पूजा पाठ में अग्रणी तथा गुरु के प्रति निष्ठावान होती है यह समय अनुसार स्वभाव बदलने परिस्थितियों में समझौता कर लेने में चतुर होती है इनके जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते हैं खर्च करने का इनका स्वभाव अच्छा होता है इस राशि की महिलाएं प्रायः कामकाजी होकर भी जरूरी काम कम करती है और फिजूल की बातों में समय ज्यादा लगाती है यह संभवत है दिल की कमजोर और स्वभाव से शरारती होती है रोमांस के मामलों में गर्मी वह साहसी होती है सांसारिक ऐश्वर्या प्रशासन के प्रति लोभ लालच रखने वाली एवं समाज में प्रसिद्ध होती है .


आर्थिक स्थिति एवं व्यवसाय :

तुला राशि के जातकों में प्राय: विवाह उपरांत जीवन में एक नया मोड़ आता है और आर्थिक स्थिति में सुधार आता है

इनकी आर्थिक स्थिति अच्छी बनी रहती है रहन-सहन तथा कारोबार में परिवर्तन करते रहते हैं अतः कई हालातों में बुरी आर्थिक हालात के अधिकतर आप ही जिम्मेदार होते हैं . ( Tula Rashi ) जीवन में सक्रिय रहना और धीरज रखना इनकी आर्थिक स्थिति अच्छी बनाए रखता है तुला राशि के जातक नौकरी करके धनी बनते हैं.


इनको लोहे के कार्य, शराब, सुनार, पान विक्रेता, सेल्समैन, प्रतिनिधि, वकील, केमिस्ट, वस्त्र, सौंदर्य प्रसाधन, महिलाओं से संबंधित, रत्ना, मनोरंजन, चित्रकला, स्वास्थ्य विभाग, स्त्री रोग विशेषज्ञ, लैब टेक्नीशियन, एवं पैथोलॉजिस्ट, एजेंट, संगीतकार यात्रा एजेंट, प्रिंटिंग प्रेस, टेलर, मशीनरी, टीवी, रेडियो ,मूर्तिकार, व्यापार, मॉडलिंग ,फिल्म फैशन, डिजाइनर, विज्ञापन एजेंसी, खेल सामग्री, भवन निर्माण ,ऑटोमोबाइल, पार्ट्स, यातायात होटल, अभिनेता ,आदि में सफल होते हैं .


भाग्य खुलने के वर्ष :


इस राशि के व्यक्तियों का भाग्य खुलने का विशेष कार्य आयु का 25 वां वर्ष या विवाह उपरांत होता है इस तरह इनका भाग्य प्रायः 22 वर्ष की आयु से 27 वर्ष की आयु के मध्य खुलता है इस अवधि में विशेष सक्रिय रहते हैं और काफी धन अर्जित करते हैं इन जातकों के पास प्रायः अपना वाहन होता है आयु के 6,15 ,24, 25, 27, 30, 36, 48,51, 60, 65, 68,69 वा वर्ष विशेष महत्व का होता है.  Tula rashi 2021


शुभ रत्न :


तुला राशि के लिए शुभ रत्न हिरा तथा धातु सोना है अतः भाग्य उन्नति के लिए हीरा सोने की अंगूठी में दाहिने हाथ की मध्यमा या कनिष्ठा तर्जनी में शुक्रवार प्रातः धारण करें .


एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

  1. You are providing good knowledge. It is really helpful and factual information for us and everyone to increase knowledge.about gemini-cancer cusp. Continue sharing your data. Thank you.

    जवाब देंहटाएं